ब्रह्मानंदम का जीवन परिचय || Brahmanandam Biography In Hindi || Brahmanandam South Comedy Movie Superstar


ब्रम्हान्नदम की जीवनी । ब्रम्हान्नदम का जीवन परिचय


ब्रम्हान्नदम की जीवनी

South Comedy Movie के कॉमेडी किंग ब्रह्मानंदम को आज कौन नहीं जानता । आज के समय में ब्रह्मानंदम 1100 से भी ज्यादा फिल्मों में नजर आ चुके हैं ब्रह्मानंदम एक ऐसे कॉमेडियन है जिनके बोलने से पहले ही लोगों की हंसी निकल जाती है ।
वह एक ऐसे जीवित अभिनेता हैं जिन्होंने सबसे ज्यादा फिल्मों में काम किया है इस कारण उनका नाम गिनीज बुक में दर्ज है ।

नाम - ब्रह्मानंदम कनगनती
जन्म - 1 फरवरी 1956
जन्मस्थान - आंधप्रदेश भारत
माता - लक्ष्मीनरसम्मा
पिता - नागालिंगाचारी
पत्नी - लक्षमी कनगनती




ब्रह्मानंदम का प्रारंभिक जीवन

ब्रह्मानंदम का जन्म 1 फरवरी 1956 को आंध्र प्रदेश के सातेनापल्ली जिले में हुआ था उनके पिता का नाम नागालिंगाचारी और माता का नाम लक्ष्मीनरसम्मा है
ब्रह्मानंदम को एक्टिंग का शौक तो बचपन से ही था लेकिन परिवार की आर्थिक हालत खराब होने के कारण उन्हें घर वालों की तरफ से फिल्मी दुनिया में जाने के लिए कोई प्रोत्साहन नहीं मिला ।
इसलिए ब्रह्मानंदम बचपन से ही पढ़ाई में लगे रहे और आगे चलकर एक टीचर बन गए हालांकि टीचर बनने के बावजूद भी फिल्म जगत से उनका प्यार खत्म नहीं हुआ ।

ब्रह्मानंदम के फिल्मी करियर की शुरुआत


एक बार किसी ड्रामा में एक्टिंग करते हुए तमिल फिल्मों के डारेक्टर जन्धयाला सुब्रमण्यम ने उन्हें देखा उनकी एक्टिंग से प्रभावित होकर सुब्रमण्यम ने एक फिल्म चन्ताबाबाई में उन्हें छोटा सा रोल दे दिया और इस तरह से ब्रह्मानंदम के फिल्मी करियर की शुरुआत हुई थी ।
फिर क्या था ब्रह्मानंदम के अंदर टेलेंट तो कूट-कूट कर भरा हुआ था । उनकी शानदार एक्टिंग को देखते हुए दक्षिण फिल्मों के सुपरस्टार चिरंजीवी भी उनके काम से काफी प्रभावित हुए और उन्होंने  ब्रह्मानंदम के साथ पसिवादी प्रणाम, चक्रवर्ती और स्वयं पुरुष जैसी बहुत सारी फिल्मों में काम किया ।




90 के दशक में उन्हें दोस्त के तौर बहुत सारी South Comedy Movie करने का मौका मिला । फिल्मों में वह सबसे ज्यादा हुआ करते थे और अपनी कॉमेडी से दर्शकों को काफी हंसाते थे ।

बाबई होटल मूवी के लिए ब्रह्मानंदम को सन 1992 में तेलुगु फिल्मों में बेस्ट कॉमेडी अवार्ड मिला था ।
1993 में मनी फिल्म में अच्छे अभिनय के कारण उन्हें नंदी अवार्ड मिला था ।
2009 में भारत सरकार के द्वारा उन्हें पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था ।


Note :- हमारे द्वारा लिखित पोस्ट (ब्रम्हानंदम की जीवनी) मैं आपको कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट करे हम इसे अपडेट करते रहेंगे।

Post a Comment

2 Comments