प्राचीन काल से ही इतिहास में अनेक रहस्य दफ़न है जिनको समझ पाना बहुत ही मुश्किल है । पुरातत्व विभाग की माने तो यह पहेलियां समझने की बजाए और उलझती जा रही है | मध्यप्रदेश के बुरहानपुर से 20 किलोमीटर दूर उत्तर की ओर सतपुड़ा के पहाड़ियों के शिखर पर स्थित असीरगढ़ का किला अपने अंदर कई रहस्य समेटे हुए हैं । Asirgarh Fort भारत के ऐतिहासिक स्थलों में से एक है  


Asirgarh Fort

कई लोगों का यह मानना है कि श्री कृष्ण के श्राप के कारण (Ashwathama) अश्वत्थामा आज भी यहां भटकता हुआ दिखाई देता है   लेकिन इस बारे में हम पहले एक आर्टिकल लिख चुके हैं इसलिए इस लेख में हम आपको किले कुछ ऐसे ही दूसरे रहस्यो के बारे में बताएंगे ।

क्या अश्वत्थामा आज भी जिंदा है || रहस्यो से भरा Asirgarh Fort

अभी हाल ही में असीरगढ़ के किले में खुदाई के दौरान कुछ ऐसी रहस्यमय चीजें सामने आई है जिनका रहस्य जान पाना बहुत मुश्किल है । खुदाई के दौरान किले में एक जेल और एक महल मिला है जेल में लोहे की खिड़कियां और लोहे के दरवाजे हैं । और एक रानी का महल मिला है जिसमें 20 गुप्त कमरे हैं और एक स्नान कुंड की भी पुष्टि की है ।

Asirgarh Fort

असीरगढ़ का किला समुद्र तल से 250 फुट की ऊंचाई पर है इसके बावजूद भी यहां पर एक जलाशय ऐसा है जिसका पानी कभी नहीं सूखता है उसमें हमेशा पानी रहता है । रहस्य की बात तो यह है पहाड़ी पर पानी आता कहां से होगा।    

Asirgarh Fort

स्थानीय लोगों की माने तो उनके अनुसार श्री कृष्ण द्वारा अश्वत्थामा (Ashwathama) को दिए गए श्राप के कारण ऐसा हुआ है ऐसा कहा जाता है कि अश्वत्थामा (Ashwathama) जलाशय में स्नान करके पास के ही शिव के मंदिर में पूजा करने जाता है ।

Note :-  हमारे द्वारा Asirgarh Fort के बारे में दि गई जानकारी में आपको कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट करे हम इसे अपडेट करते रहेंगे |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here