इंदिरा गांधी भारत की चौथी और प्रथम महिला प्रधानमंत्री थीं । वो एक ऐसी महिला थीं जिसने न केवल भारतीय राजनीति बल्कि विश्व राजनीति के क्षितिज पर भी विलक्षण प्रभाव छोड़ा । इंदिरा गांधी भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु की इकलौती संतान थीं । इंदिरा जी के शासनकाल में ही भारत में एकमात्र आपातकाल लागू किया गया था ‌। उनके शासन के दौरान ही बांग्लादेश मुद्दे पर भारत-पाक युद्ध हुआ और बांग्लादेश का जन्म हुआ । इंदिरा जी को अपनी विलक्षण प्रतिभा और राजनीतिक दृढ़ता के लिए भारतीय इतिहास में हमेशा जाना जायेगा ।

इंदिरा गांधी का जीवन परिचय – Indira Gandhi Biography In Hindi

Indira Gandhi

नाम – इंदिरा फिरोज गांधी
जन्म – 19 नवंबर 1917
मृत्यु – 31 अक्टूबर 1984
पितापंडित जवाहरलाल नेहरू
माता – कमला जवाहरलाल नेहरु
विवाह – फिरोज गांधी
बच्चे – राजीव गांधी, संजय गांधी
जन्मस्थान – इलाहाबाद (उत्तर प्रदेश)
राजनीतिक दल – भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
प्रधानमंत्री पद कार्यकाल – 24 जनवरी 1966 – 24 मार्च 1977, 14 जनवरी 1980- 31 अक्टूबर 1984 इंदिरा प्रियदर्शिनी गांधी – भारत की प्रथम और अब तक की एकमात्र महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी जिन्होंने 1966 से 1977 और फिर से 1980 से 1984 तक उन्होंने देश की सेवा की ।

इंदिरा गांधी का प्रारंभिक जीवन – Indira Gandhi History In Hindi

पंडित जवाहरलाल नेहरु की पुत्री श्रीमती इंदिरा नेहरू का जन्म 19 नवम्बर 1917 को एक प्रतिष्ठित कश्मीरी पंडित परिवार में हुआ था । उनके पिता जवाहरलाल नेहरु, एक बड़े राजनेता और भारत के प्रथम प्रधानमंत्री थे । भारत की स्वतंत्रता की लड़ाई में उन्होंने अभूतपूर्व योगदान दिया था ।  


Indira Gandhi

इंदिरा जी का बचपन अकेलेपन से भरा पड़ा था । उनके पिता या तो घर से बाहर रहते या तो जेल में बंद रहते थे । घर में पूरी तरह राजनीतिक माहौल छाया हुआ था । इंदिरा जी का अपने पिताजी के साथ बहुत कम संबंध था । इंदिरा जी घर पर अपनी मां के साथ ही रहती थी ।

इंदिरा गांधी की प्रारंभिक शिक्षा

जवाहरलाल नेहरू की राजनैतिक व्यस्तता और अपनी माता के ख़राब स्वास्थ्य के कारण इंदिरा जी को कुछ वर्षों तक सही तरीके से शिक्षा नहीं मिल पायी । राजनैतिक कार्यकर्ताओं के रात-दिन आने-जाने के कारण घर का वातावरण भी पढ़ाई के अनुकूल नहीं था । इसलिए इंदिरा जी की प्रारंभिक शिक्षा ज्यादातर घर पर ही हुई थी ।

वह दिल्‍ली के मॉडर्न स्कूल, सेंट मैरी क्रिस्वियन कान्वेंट स्कूल और सेंट ससिल्लिया की विद्यार्थी रह चुकी है । साथ ही उन्होंने इकोले नौवेल्ले, बेक्स (स्विट्जरलैंड), इकोले इंटरनेशनेल, जिनेवा, पूना और बंबई में स्थित प्यूपिल्स ओन स्कूल, बैडमिंटन स्कूल, ब्रिस्टल, जैसे प्रमुख संस्थानों से शिक्षा प्राप्त की । उन्होंने शांति निकेतन के विश्वा भारती से भी शिक्षा प्राप्त की । उन्हें विश्व भर के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों द्वारा डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया गया था । प्रभावशाली शैक्षिक पृष्ठभूमि के कारण उन्हें कोलंबिया विश्वविद्यालय द्वारा विशेष योग्यता प्रमाण दिया गया । उनकी माता की मृत्यु के बाद उन्होंने अपनी पढाई ओक्स्फोर्फ़ विश्वविद्यालय से पूरी की थी ।

इंदिरा गांधी का परिवार – Indira Gandhi Family


फिरोज गांधी और इंदिरा गांधी

सन 1942 में इंदिरा नेहरू और फिरोज गांधी ने इलाहाबाद में शादी कर ली । इंदिरा जी के दो पुत्र थे । सन 1944 में इंदिरा जी को पहली संतान हुई जिसका नाम राजीव गांधी था । राजीव गांधी की शादी सोनिया गांधी से और राजीव गांधी के छोटे भाई संजय गांधी की शादी यामिनी गांधी से हुई ।  

Rajiv Gandhi, Sanjay Gandhi

छोटे भाई संजय गांधी की मृत्यु के बाद यामिनी गांधी और उनके पुत्र वरूण गांधी को परिवारिक हिस्सा नहीं मिलने के कारण वह दोनों भारतीय जनता पार्टी में चले गए ।

इंदिरा गांधी का राजनीतिक जीवन – Indira Gandhi Political Carrier

श्रीमती इंदिरा गांधी शुरू से ही स्वतंत्रता संग्राम में सक्रिय रहीं । बचपन में उन्होंने ‘बाल चरखा संघकी स्थापना की और असहयोग आंदोलन के दौरान कांग्रेस पार्टी की सहायता के लिए 1930 में बच्चों के सहयोग से ‘वानर सेना’ का निर्माण किया । इंदिरा जी ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से सन 1941 में भारत वापस आयीं । आने के बाद इंदिरा जी भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन में शामिल हो गयीं । जिसके कारण 1942 में उन्हें जेल में डाल दिया गया था ।
1955 में श्रीमती इंदिरा गाँधी कांग्रेस कार्य समिति और केंद्रीय चुनाव समिति की सदस्य बनी । इंदिरा जी सन 1959 से सन 1960 तक भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की अध्यक्ष रहीं ।

सन 1964 में अपने पिता पंडित जवाहरलाल नेहरू की मृत्यु के बाद लाल बहादुर शास्त्री की सरकार में सूचना और प्रसारण मंत्री के पद पर रहीं ।

1966 में लालबहादुर शास्त्री के निधन के बाद विधानसभा के चुनाव में कांग्रेस कीं अध्यक्षा में इंदिरा गांधी ने मोरारजी देसाई को हराया और 24 जनवरी, 1966 को इंदिरा गाँधी भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री बनी ।

मोरारजी देसाई के लगातार विरोध के कारण आखिर सन 1969 में कांग्रेस का विभाजन हो गया इससे पार्टी को भी काफी नुकसान हुआ । इंदिरा जी ने सन 1969 में बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया।

सन 1971 के लोकसभा चुनाव में इंदिरा जी ने ‘गरीबी हटाओ’ के नारे के साथ उतरी, और इस चुनाव में इंदिरा जी को बहुमत से विजय प्राप्त हुयी । और इस तरह इंदिरा जी कॉग्रेस की सर्वोच्च नेता बनी ।

पाकिस्तान हमला – Pakisthan Attack

सन 1971 में बांग्लादेश के मुद्दे पर भारत-पाकिस्तान में युद्ध छिड़ा और पाकिस्तान के सैनिकों ने भारतीय सैनिकों के सामने हथियार डाल दिए, इस युद्ध में भारत की जीत हुई । युद्ध में हार के बाद दोनों देशों के बीच शांति के लिए “शिमला समझौता” हुआ । सन 1971 के चुनाव में इंदिरा गाँधी को भारी सफलता मिली थी और उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिए नए कार्यक्रम भी लागू करने की कोशिश की लेकिन युद्ध के आर्थिक बोझ के कारण देश के अन्दर समस्याएं बढती जा रही थीं । इसी बीच सूखा और अकाल ने स्थिति को और बिगाड़ दिया । बेरोज़गारी भी काफ़ी हद तक बढ़ चुकी थी और सरकारी कर्मचारी वेतन-वृद्धि की माँग कर रहे थे । सरकार इन सब परेशानियों से जूझ ही रही थी । इन परिस्थितियों का मुकाबला करने के लिए 26 जून, 1975 को प्रातः देश में आपातकाल की घोषणा कर दी गई । इंदिरा गांधी के द्वारा 1975 में आपातकाल की घोषणा से भारत की जनता उनसे बहुत नाराज थी । इसलिए 1977 के लोकसभा चुनाव में कॉग्रेस की हार हुयी ।

इंदिरा गांधी की मृत्यु – Indira Gandhi Death

पंजाब में अलगाववादी संगठनो ने स्वतंत्र ‘खलिस्तान’ नाम के राष्ट्र निर्माण की मांग की, स्थिति बहुत बिगड़ गयी थी और ऐसा लगने लगा था कि पंजाब एक नया राष्ट्र का निर्माण कर लेगा । अलगाववादीयो का सफाया करने के प्रयास में इंदिरा गाँधी ने अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में सेना भिजवाई और सैन्य कार्यवाही की

Indira Gandhi

इस घटना से लोगो को बहुत गुस्सा आया । और ऑपरेशन “ब्ल्यू स्टार” के कुछ ही महीनों बाद ही 31 अक्टूबर 1984 को इंदिरा गाँधी के दो सिक्ख अंगरक्षकों ने गोली मारकर उनकी हत्या कर दी ।

उपलब्धियां – Award

इंदिरा गांधी एक देशप्रेमी थी । देश प्रेम की भावना उनमे कूट कूट के भरी थी । सन 1972 में इंदिरा जी को भारत रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया ।
पशुओं के संरक्षण के लिए 1971 में अर्जेंटीना सोसायटी द्वारा उन्हें सम्मानित उपाधि दी गई ।  

श्रीमती इंदिरा गांधी कमला नेहरू स्मृति अस्पताल, गांधी स्मारक निधि और कस्तूरबा गांधी स्मृति न्यास जैसे संगठनों और संस्थानों से जुडी हुई थीं । वे स्वराज भवन की अध्यक्ष थीं । इंदिरा गांधी ने इलाहाबाद में कमला नेहरू विद्यालय की स्थापना की थी ।

Note :- हमारे द्वारा लिखित पोस्ट About Indira Gandhi History in Hindi मैं आपको कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट करे हम इस अपडेट करते रहेंगे ।
अगर आपको हमारी Indira Gandhi Biography In Hindi अच्छी लगे तो हमें Facebook, WhatsApp पर अपने मित्रों के साथ जरूर Share कीजिये ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here